Breaking News
Home / World / सीरिया संकट: बातचीत में शरीक होगा ईरान

सीरिया संकट: बातचीत में शरीक होगा ईरान

जावेद ज़रीफ Image copyright AP

ईरान के विदेश मंत्री जावेद ज़रीफ़ सीरिया संकट के समाधान के लिए विएना में होने वाली बहुपक्षीय बातचीत में हिस्सा लेंगे.

ईरान की विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मर्ज़ीह अफ़ख़म ने बताया, “हमने न्योते की समीक्षा की है और ये फ़ैसला किया गया है कि विदेश मंत्री बातचीत में हिस्सा लेंगे.”

ये पहला मौका होगा जबकि ईरान अमरीका के साथ किसी ऐसी बैठक में शरीक होगा.

इस बातचीत में रूस, सऊदी अरब और तुर्की के प्रतिनिधि भी हिस्सा लेंगे.

मिस्र और इराक ने भी बैठक के लिए मिले आमंत्रण को स्वीकार करने की पुष्टि की है.

शुक्रवार को सीरिया पर बातचीत का मुख्य दौर होने की उम्मीद है लेकिन राजनयिकों का ये भी कहना है कि गुरुवार शाम को शुरुआती दौर की बातचीत हो सकती है.

Image copyright Reuters
Image caption सीरिया में जारी संघर्ष में अब तक ढाई लाख से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं

अमरीका अब तक सीरिया को लेकर स्पष्ट नीति तैयार नहीं कर सका है.

सीरिया के विपक्ष ने आगाह किया है कि विएना में होने वाली मीटिंग में ईरान के शरीक होने से स्थितियां जटिल हो जाएंगी.

बीबीसी के कूटनीतिक संवाददाता जेम्स रॉबिन्स के मुताबिक अमरीका सीरिया पर होने वाली बातचीत में ईरान के शरीक होने को लेकर बहुत उत्साहित नहीं है लेकिन अब वो उसके दखल को मंजूर कर लेगा.

Image copyright RIA Novosti

ईरान की न्यूज एजेंसी फार्स के मुताबिक ज़रीफ़ ने विएना बातचीत में हिस्सा लेने को लेकर मंगलवार को रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव से फोन पर बातचीत की.

ये माना जाता है कि ईरान ने बीते चार सालों में सीरिया की बशर अल-असद सरकार की मदद के लिए अरबों डॉलर खर्च किए हैं.

ईरान और रूस ने हाल में सीरिया संघर्ष में अपनी सैन्य भूमिका का विस्तार किया है.

रूस ने बीते महीने के आखिर में राष्ट्रपति असद के समर्थन में हवाई हमले शुरू किए थे.

रूस और ईरान का कहना है कि सीरिया के लोगों को ये तय करने का फैसला होना चाहिए कि वहां कौन सरकार चलाए और राष्ट्रपति असद की बदलाव में भूमिका होनी चाहिए.

इस बीच रूस ने कहा है कि उसके लड़ाकू विमानों ने 24 घंटे के दौरान सीरिया में ‘चरमपंथियों’ के 118 ठिकानों को निशाना बनाया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)


Powered By BloggerPoster

BBCHindi.com | अंतरराष्ट्रीय