Breaking News
Home / India / मुशर्रफ के बयान पर बोले नेता, 'आतंकवाद पर पाकिस्तान की नीयत से उठ गया पर्दा'

मुशर्रफ के बयान पर बोले नेता, 'आतंकवाद पर पाकिस्तान की नीयत से उठ गया पर्दा'

नई दिल्ली: लश्कर-ए-तैयबा जैसे आतंकवादी संगठनों को पाकिस्तान की ओर से समर्थन मिलने और उन्हें ट्रेनिंग दिए जाने संबंधी पूर्व पाकिस्तानी राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के खुलासे पर भारत में तीखी प्रतिक्रिया देखने को मिली है। तमाम राजनीतिक दलों और सुरक्षा विशेषज्ञों ने कहा कि अंतत: सच सामने आ गया है और अब वांछित आतंकवादियों को भारत के हवाले किया जाना चाहिए।

मुशर्रफ के बयान के बाद बीजेपी और कांग्रेस दोनों ने भारत के खिलाफ आतंकवादियों की मदद के लिए पाकिस्तान पर एक साथ निशाना साधा। केंद्रीय मंत्री एम. वेंकैया नायडू ने कहा, ‘चलो अंतत: उन्होंने सच तो बोला। अगर वह वाकई आतंकवाद से लड़ने में दिलचस्पी रखते हैं तो कभी न कभी उन्हें भी आवाज उठानी चाहिए। उन्हें वाकई इन लोगों को भारत के हवाले कर देना चाहिए, क्योंकि उन्होंने यहां जघन्य अपराध किए हैं।’

शहरी विकास मंत्री ने कहा कि अब मुशर्रफ ने खुद बहुत साफ कर दिया है कि उन्होंने दाऊद इब्राहिम की मदद की है और उसे पहले शरण दी थी। पाकिस्तान जिम्मेदारी समझता है और उसे दाऊद तथा भारत में वांछित अन्य लोगों को सौंप देना चाहिए।’

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने मुशर्रफ के बयान पर निशाना साधते हुए कहा, ‘जैसे हीरो होंगे, वैसे ही लोग होंगे।’ इस बारे में पूछे जाने पर भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी और केवल इतना कहा, ‘मैं इन मुद्दों पर बाद में बात करुंगा।’

पूर्व सेना प्रमुख वी.पी. मलिक ने कहा कि अब सच सामने आ गया है कि मुशर्रफ किस तरह देश के अंदर और बाहर लोगों को धोखा देने की कोशिश कर रहे थे। कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने ओसामा बिन लादेन और आतंकवादी संगठनों पर मुशर्रफ के बयान के बाद कहा कि यह साफ है कि पाकिस्तान आतंकवाद का ठिकाना है।

बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव श्रीकांत शर्मा ने कहा कि इन खुलासों के बाद पाकिस्तान का सच सामने आ गया है और पाकिस्तान को लेकर बीजेपी का यह रुख भी प्रमाणित हुआ है कि उसने भारत के खिलाफ आतंक के कारखाने स्थापित किए। मुशर्रफ ने हाल ही में एक मीडिया इंटरव्यू में स्वीकार किया था कि पाकिस्तान ने कश्मीर में आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए 1990 के दशक में लश्कर-ए-तैयबा जैसे आतंकवादी संगठनों की मदद की थी और उन्हें ट्रेनिंग दी थी।

72 साल के मुशर्रफ ने कहा कि ओसामा बिन लादेन और अयमान अल-जवाहिरी जैसे आतंकवादी पहले पाकिस्तान के नायक होते थे, लेकिन बाद में खलनायक बन गए। पूर्व सैन्य शासक के बयानों पर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, ‘आतंकवादी संगठनों को समर्थन की बात कबूल करने वाला मुशर्रफ का बयान आतंकवाद के संरक्षकों और उसे बढ़ावा देने वालों का इकबालिया बयान है।’ उन्होंने कहा कि एक बार फिर पाकिस्तान का वास्तविक चेहरा सामने आ गया है।

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा कि विभाजन की वजह से भारत और पाकिस्तान दोनों जगह कड़वाहट है, जिसमें लाखों लोगों ने जान गंवा दी। उन्होंने कहा, ‘भारत में पाकिस्तान विरोधी विभाजनकारी बयान और पाकिस्तान में भारत विरोधी बयान होते रहते हैं और दोनों तरफ ऐसे लोग हैं जो इससे फायदा उठाते हैं।’

बीजेपी नेता शर्मा ने कहा कि पाकिस्तान जिस भाषा में समझ सके, भारत उसे जवाब देने में सक्षम है और पाकिस्तान से भारत-विरोधी गतिविधियों को लंबे समय तक बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

This entry passed through the Full-Text RSS service – if this is your content and you’re reading it on someone else’s site, please read the FAQ at fivefilters.org/content-only/faq.php#publishers.

RSS Feeds | Latest | NDTVKhabar.com